घरओवरवियूसंगठनात्मक व्यवस्थाइन्फ्रास्ट्रक्चरभविष्य की रणनीतिगैलरीप्रशासनG2G Loginमुख्य पृष्ठ     View in English    
  बागवानी के ऑनलाइन पोर्टल में आपका स्वागत है     हिमाचल प्रदेश उद्यान विकास परियोजना-पर्यावरण एवं सामाजिक प्रबंधन रुपरेखा     
मुख्य मेन्यू
एक नज़र में बागवानी
नागरिक सेवाएं
सामान्य सूचना
वार्षिक प्रशासनिक प्रतिवेदन
आर. एफ. डी.
फ्लोरीकल्चर
छिडकाव सारिणी
बागवानी सम्बंधित मासिक कार्यसारिणी
फल परिरक्षण सम्बंधित कार्यसारिणी
कीटों की रोकथाम के लिए मासिक कार्य सारिणी
पुष्प उत्पादन सम्बन्धित मासिक कार्य सारिणी
विभागीय फलोद्यान /फल पौधशालाओं हेतु मानक संचालन प्रक्रिया
प्रशिक्षण पुस्तिका
परिचालन संदर्शिका
सूचना का अधिकार नियम 2005
निविदा
सम्बंधित वेबसाइटे
हमसे सम्पर्क करें
मौसम और ऐड ऑन आधारित फसल बीमा योजना के अंतर्गत रबी मौसम 2017-18
फफूंदनाशकों/कीटनाशकों की परीक्षण रिपोर्ट
नागरिक प्राधिकरण
लोकसेवा गारंटी सेवाएँ सम्बन्धी-अधिसूचना
हिमाचल प्रदेश में फलों के पेड़ का मूल्याकन मापदंड
शिकायत निवारण तंत्र के तहत प्रावधानों को लागू करने के लिए परियोजान की सुरक्षा व्यवस्था
नीलामी सुचना
वर्षाकालीन फल पौधों की दर
शरदकालीन फल पौधों की दर
केन्द्रित नागरिक सेवाएँ

मौजूदा आंतरिक प्रवाह प्रक्रिया और नागरिक पक्ष वितरण प्रणाली के तहत विभागीय कर्मचारियों की मुख्य सेवाओं की सूची.
योजनाएं:

i) उद्यान विकास योजना


सेवाएं:

       क) पंजीकृत निजी और सरकारी फल पौधशालाओं प्रमुख फल पौध सामग्री की आपूर्ति.

       ख) उद्यान सामग्री की आपूर्ति
       ग) नए बगीचे की स्थापना (व्यक्तिगत या सामुहिक उद्यान के रूप में)

प्रोत्साहन और सहायता:

       क)व्यक्तिगत बाग की स्थापना करने के लिए 50% अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति / आई.आर.डी.पी. बागवानो के लिए 50 प्रतिशत, लघु किसानों के लिए 25 प्रतिशत /,


           सीमांत बागवान किसानों के लिए33.33 प्रतिशत और जिसकी अधिकतम सीमा रु. 3000 / - है.


       ख) उद्यान कुन्ज की स्थापना: संयुक्त बाड, पौध संरक्षण उपकरण एवं सिंचाई की सुविधा के लिए% अनुसूचित जाति से सबंधित बागवानो के लिए 75 प्रतिशत,
           लघु एवं सीमांत और पिछड़े क्षेत्र से सम्बंधित बागवानो के लिए भूमि विकास, फल पौधों का रोपण, बगीचे के प्रबंधन के लिए क्रियाए. 50 प्रतिशत अनुसूचित जाति/
          पिछड़े क्षेत्र से सम्बंधित बागवानो के लिए. 50 प्रतिशत लघु किसानों/ बागवानो के लिए. 25 प्रतिशत सीमांत किसानों/ बागवानो के लिए. 33.33 प्रतिशत (अधिकतम
           सीमा 18000 रु. प्रति 2 हेक्टेयर/ 36,000 रु. प्रति 4 हेक्टेयर )

हॉप्स की खेती के लिए सेवाएं:

       क) हॉप्स उत्पादन से सम्बंधित प्रशिक्षण

       ख) पौध एवं उद्यान सामग्री की आपूर्ति
                                           प्रोत्साहन और सब्सिडी:
क्र.सं. विवरण सब्सिडी अधिकतम सीमा
1. हॉप्स उत्पादन से सम्बंधित सामग्री(व्यक्तिगत बागवान के लिए) 50% 10,000/
2. हॉप्स सोसायटी /पंचायत

1. हॉप्स उत्पादन से सम्बंधित सामग्री 50% 50,000/

2.हॉप्सविधायन से सम्बंधित सामग्री 50% 50,000/
       ग) सूखे हॉप्स उत्पादन का प्रपण मूल्य प्रतिवर्ष सरकार द्वारा तय किया जाता है.

ii) पौध संरक्षण कार्यक्रम:

       क) कीटनाशको, फफूंदनाशक एवं सरक्षण उपकरणों की आपूर्ति

       ख) मित्र कीटो को किसानों के खेतों में छोड्ना: निशुल्क

उपदान एवं सहायताए:

       क) लघु एवं सीमांत/ बागवानो के लिए -50 प्रतिशत बडे किसानों/बागवानो के लिए -30 प्रतिशत

       ख) मित्र कीटो को किसानों के खेतों में छोड्ना: निशुल्क

iii) राजकीय उद्यान एवं फल पौधशालाएं :

       क) आधुनिक बागवानी तकनिकी प्रसार के लिए आदर्श पशिक्षण केंद्र के रूप में सेवाए प्रधान करना

       ख) सरकारी पंजीकृत पौधशालाओ में प्रमुख फल पौध सामग्री का उत्पादन

उपदान एवं सहायताए: नि:शुल्क प्रदर्शन

iv) उद्यान प्रशिक्षण एवं प्रसार सेवा कार्यक्रम:

       क) छोटी अवधि के प्रशिक्षण शिवरों एवं प्रशिक्षण पाठ्यक्रम के माध्यम से किसानों एवं बागवानो को प्रशिक्षण प्रदान करना

       ख) राज्य के भीतर एवं बाहर किसानों के अध्ययन भ्रमण का आयोजन
       ग) सेमिनारों और वर्कशाप का आयोजन.

उपदान एवं सहायताए:

       क) एक दिवसीय ग्रामीण स्तरीय प्रशिक्षण शिविर - रु.45.75+5.00 प्रति दिन प्रति किसान

       ख) दो दिवसीय खण्ड / जिला. स्तरीय प्रशिक्षण शिविर- रु.45.75 5.00 प्रति दिन प्रति किसान
       ग) राज्य के अन्दर 10 दिवसीय के अध्ययन दौरे का आयोजन - रु.45.75+5.00 प्रति दिन प्रति किसान + नि: शुल्क यात्रा और आवास
       घ) राज्य के बाहर 15 दिन अध्ययन दिनों के दौरे - रु. 45.75 + 5.00प्रति दिन प्रति किसान +नि:शुल्क यात्रा+ ठहराव
            

v) मौन पालन विकास कार्यक्रम:

       क) मधुमक्खी वंशो के छ्त्त्तो में सुधार और उपभेदों की आपूर्ति

       ख) किराये पर परागण के लिए मधुमक्खी कालोनियों की आपूर्ति.
       ग) मधुमक्खी पालन में व्यावहारिक प्रशिक्षण-प्रति दिन रु. 45.75 +5.00 प्रति किसान,
            प्रोत्साहन और सब्सिडी :-7 दिन तक मौन पालन पर सात दिवसीय व्यावहारिक प्रशिक्षण- रु. 45.75 +5.00 प्रति दिन प्रति किसान

vi) पुष्पोंत्पादन विकास कार्यक्रम :

       क) प्रमुख पुष्प पौध सामग्री की आपूर्ति.

       ख) चार दिवसीय व्यावहारिक प्रशिक्षण.

उपदान एवं सहायताए:

       क) पुष्प कृषि के लिए 4 दिवसीय व्यावहारिक प्रशिक्षण रु.45.75+ 5.00 - प्रति दिन प्रति किसान

       ख) लघु किसानों को 25 प्रतिशत एवं सीमांत किसानों को 33 प्रतिशत पर पौध सामग्री, बीज, उर्वरक, कीटनाशक एवं पौध संरक्षण उपकरणों की आपूर्ति.

vii) खुम्ब विकास कार्यक्रम:

       क) मशरूम उत्पादन हेतु 10 दिवसीय व्यावहारिक प्रशिक्षण

       ख) प्रशिक्षित खुम्ब उत्पादकों का पंजीकरण
       ग) विभागीय इकाइयों द्वारा उत्पादन एवं मशरूम खाद की आपूर्ति
       घ)अच्छी गुणवता खुम्ब स्पॉन की उपलब्धता
       ङ) खुम्ब कम्पोस्ट के लिए परिवहन सुविधा

उपदान एवं सहायताए:

       क) मशरूम उत्पादन हेतु 10 दिवसीय व्यावहारिक प्रशिक्षण - रु.45.75+5.00 प्रति दिन प्रति किसान

       ख)प्रशिक्षित खुम्ब उत्पादकों का पंजीकरण- निशुल्क
       ग) विभागीय इकाईयों के लिए पाश्चुराइजड खुम्ब कम्पोस्ट का उत्पादन एवं आपूर्ति ‌‍25 प्रतिशत लघु एवं सीमांत किसानों, बेरोजगार स्नातकों, 50 प्रतिशत एस/सी, एस/टी और आईआरडीपी
             अच्छी मशरूम खाद की आपूर्ति
       घ) खुम्ब कम्पोस्ट के लिए परिवहन की सुविधा-100 प्रतिशत परिवहन खुम्ब फार्म से निकटतम सब्सिडी सड़क तक

viii) फल विधायन कार्यक्रम :

       क) समुदाय डिब्बा बंदी सेवाएं

       ख) फलों और सब्जियों का विधायन.

प्रोत्साहन और सब्सिडी:

       क) घरेलू स्तर पर फलों और सब्जियों के संरक्षण का 2 दिवसीय प्रशिक्षण.

       ख) समुदायिक डिब्बा बंदी सेवा के तहत उचित दर पर फल उत्पाद का विधायन.
       ग) घरेलू स्तर पर फलों और सब्जियों के संरक्षण का 2 दिवसीय प्रशिक्षण- रु.45.75+5.00. प्रति दिन प्रति किसान

ix) विपणन एवं गुणवत्ता कार्यक्रम सेवाएं:

       क) मंडी सूचना के अंतर्गत मंडियों सर्वेक्षण का योजना

       ख) ग्रेडिंग , फलों के तुडान, पैकिंग एवं फसलोत्तर प्रबधन का 2 दिवसीय प्रशिक्षण .
       ग) मंडी मध्यस्थ अंतर्गत मेले में औसत गुणवत्ता वाले फलों(सेब, खट्टे और मैंगो) का प्रापणखरीद

उपदान एवं सहायताएं:

       क) मंडी मध्यस्थ अंतर्गत सरकार द्वारा प्रति वर्ष निर्धारित न्यूनतम दर पर औसत गुणवत्ता वाले फलों(सेब, खट्टे और मैंगो) का प्रापण

       ख) ग्रेडिंग, फलों के तुडान, पैकिंग एवं फसलोत्तर प्रबधन का 2 दिवसीय प्रशिक्षण - रु.45.75 +5.00 प्रति दिन प्रति किसान.
मुख्य पृष्ठ|उपकरणों का विवरण|दिशा निर्देश और प्रकाशन|डाउनलोड और प्रपत्र|कार्यक्रम और योजनाएं|घोषणाएँ|नीतियाँ|प्रशिक्षण और सेवाएँ|रोग
Visitor No.: 02693528   Last Updated: 13 Jan 2016